scorecardresearch
 
संसद का ‘वर्ड वॉर’, श्रीलंका में ‘माचा माचा’ और अच्छे रेस्तराँ के गुण: तीन ताल, Ep 92

संसद का ‘वर्ड वॉर’, श्रीलंका में ‘माचा माचा’ और अच्छे रेस्तराँ के गुण: तीन ताल, Ep 92

तीन ताल के 92वें एपिसोड में कमलेश 'ताऊ', पाणिनि ‘बाबा’ और कुलदीप ‘सरदार' से सुनिए:

- श्रीलंका के राष्ट्रपति भवन में घुसे आम लोगों की तस्वीरों को देखकर ताऊ और बाबा को कैसा लगा 

- राजपक्षे को लेकर ताऊ और बाबा की तुकबंदी

- ताऊ और बाबा के श्रीलंका भ्रमण के अनुभव, सबसे रोचक दृश्य और 'माचा-माचा'

- संसद की कार्यवाही से निकाले गए शब्दों की नवैयत

- ताऊ ने इसे टेक्स्ट नहीं कॉन्टेक्स्ट का मसला क्यों कहा 

- संसद के गिरगिट, गधे और क्लासिक ह्यूमर

- जयचंद के साथ इतिहास में क्या बुरा हुआ है

- संसद की कार्यवाही से कुछ शब्दों को निकालना कैसा षड्यंत्र है 

- मॉनसून सेशन को लेकर ताऊ का तंज़ और सरदार का अवधी खेल 

- गुजरात में फेक आईपीएल से ठगी करने वालों को क्यों इनाम मिलना चाहिए

- ऑटो में 27 लोग को  बिठाने की कहानी सच है या नहीं

- पब्लिक ट्रांसपोर्ट में सीट को लेकर संघर्ष और 'एडजस्ट कर रहे हैं' वाला जवाब

- खाने के बढ़िया ठिकानों की पहचान कैसे करें

- रेस्तराँ जाएं तो खाने से पहले इन चीज़ों पर ध्यान दें 

- ताऊ ने सुनाई कनॉट प्लेस के काके दा ढाबा की कहानी 

- खाकर हाथ धोने के बाद उंगलियों से पानी उड़ाने वालों को क्या सज़ा मिलनी चाहिए 

- कुल्ली करने वालों पर ताऊ की टिप्पणी और पका हुआ खाना क्यों नहीं खरीदते बाबा

- बाबा को ऑनलाइन रेटिंग पर क्यों भरोसा नहीं है और फाइव स्टार होटलों में खाना बनाने की धमकी 

तीन ताल के 60वें एपिसोड में '92 की कहानी, सुनने के लिए क्लिक करें

प्रड्यूसर - कुमार केशव
साउंड मिक्सिंग - नितिन रावत

Listen and follow तीन ताल