scorecardresearch
 
गाढ़ी दाढ़ी के क़िस्से, ख़राब सड़कों का उपयोग और मंगलसूत्र खाने वाली गाय : तीन ताल, Ep 46

गाढ़ी दाढ़ी के क़िस्से, ख़राब सड़कों का उपयोग और मंगलसूत्र खाने वाली गाय : तीन ताल, Ep 46

तीन ताल के 46वें एपिसोड में कमलेश 'ताऊ', पाणिनि ‘बाबा’ और कुलदीप ‘सरदार' से सुनिए :

- ताऊ क्यों इन दिनों पुराने गाने सुन रहे हैं और सरदार कौन से मीम के टुकड़े को पहाड़ों में गुनगुना रहे हैं जबकि बाबा इन शास्त्रीय गायकों के साथ रील्स के एक गाने में अटक गए हैं.

- बनारस पर आई एक नई फिल्म जो बाबा ने देखी और उस अंधेरे की बात जो बनारस में व्याप्त हो गया है.

- एक्टरविस्ट स्वरा भास्कर की आस्था पर सवाल कितना ज़ायज़. वामपंथ का कोई भारतीय संस्करण हो सकता है क्या?

- ताऊ ने क्यों कहा कि लुक्खे हमारी संस्कृति का अभिन्न हिस्सा हैं और हम इनको आत्मसात करने में कितना समावेशी हैं? गृह प्रवेश और पार्टी जैसे कर्मकांड से क्यों परेशान नहीं होना चाहिए और ताऊ क्यों अपने बात बदलते रहते हैं.

- एक पुलिस कॉन्स्टेबल के दाढ़ी रखने की याचिका खारिज़ होने के बहाने दाढ़ियों पर बात. बाबा ने क्यों कहा कि धरती पर दाढ़ी पहले आया और धर्म बाद में?

- ताऊ ने दाढ़ी और धर्म के संबंध को क्यों कॉम्प्लिकेटेड कहा. बाबा ने क्यों कहा दाढ़ी बनाना फ़िज़ूल का काम है और ये एक किस्म की हिंसा है?

- ताऊ को क्यों कभी दाढ़ी बनाने की सलाहियत नहीं हासिल हुई. दाढ़ी के बाल सिर के बाल से कितने अलग और दाढ़ी कटाने को दाढ़ी बढ़ाना क्यों कहा जाता है?

- तालिबान को क्लीन शेव की इज़ाज़त क्यों नहीं? दाढ़ी रखने वालों की सौम्यता और मूँछ रखने वाले सख़्त अनुशासन के पैरोकार क्यों? 

- ताऊ ने क्यों कहा कि सिर के बाल बेवफ़ा हैं और दाढ़ी कम बेवफ़ाई करती है. देवताओं को बिना दाढ़ी क्यों दिखाया जाता है? दाढ़ी पर कविता, चुटकुले और व्यंग्य.

- आदिमकाल से अब तक की सड़कों में आए बदलाव, सड़क हेमा मालिनी के गाल की तरह हों या ओम पुरी के गाल की तरह?

- ताऊ और 'मोदी' जी की विकास पर हुई बात और उसमें गडकरी का ज़िक्र. विकास के बहाने 'विकास' की तलाश.

- सड़क में गड्ढे क्यों ज़रूरी हैं और ताऊ ने क्यों कहा कि बुरी सड़कों से ज़्यादा लोग क्यों अच्छी सड़कों से मरते हैं?
 
- ख़राब सड़कों के अनुभव, रस, अजीबोगरीब रंग, फ़ायदे और उसकी यात्रा का सौंदर्यबोध.

- बिज़ार ख़बर में मंगलसूत्र खाने वाली गाय के बहाने बचपन में कुछ निगल जाने के फ़ायदे और नुकसान.

- वॉट्सऐप पर ऑडियो की शक्ल में आई कई चिट्ठियों का ज़िक्र. पटना के एक लिस्नर के बहाने वितंडावाद का मतलब. 9 साल की एक लिस्नर जिसको ताऊ ने कहा कि बड़ी हो कर फिर से इसे सुनना और ताऊ के 'पन' पर एक श्रोता की चिट्ठी.

- और तीन ताल के अनन्यतम श्रोताओं के लिए तीन ताल का वॉट्सऐप ग्रुप लॉन्च. जुड़ने के लिए महज़ "मैं भी तीन तालिया" लिखकर भेजें.

प्रोड्यूसर: शुभम तिवारी
साउंड मिक्सिंग: अमृत रेगी

 

अपनी पसंद के पॉडकास्ट सुनने का आसान तरीक़ा, हमें सब्सक्राइब करें यूट्यूब और टेलीग्राम पर. फेसबुक पर जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें.

Listen and follow तीन ताल