scorecardresearch
 
उल्टी साफ करने का दर्द, तलाक के फ़ायदे और दिहाड़ी वाली पुलिस : तीन ताल, Ep 97

उल्टी साफ करने का दर्द, तलाक के फ़ायदे और दिहाड़ी वाली पुलिस : तीन ताल, Ep 97

तीन ताल के 97वें एपिसोड में कमलेश 'ताऊ', पाणिनि ‘बाबा’ और कुलदीप ‘सरदार' से सुनिए:

-कृष्ण किस चीज़ के नायक? बाबा को क्यों कृष्ण आकर्षित करते हैं. कृष्ण के बाल्य से विकराल रूप तक की बात. कृष्ण और क्रुष्ण का फ़र्क़. गीता पर क्यों एक शोध की है ज़रूरत?

-अहमदाबाद की एक ख़बर और डार्लिंग्स फ़िल्म के बहाने घरेलू हिंसा के वजूहात पर चर्चा. क्या शराब भी घरेलू हिंसा की एक वजह है? घरों में सीसीटीवी लगाने से डोमेस्टिक वायलेंस क्यों नहीं रुकता? 

-न्यायपालिका का ज़िक्र सुन क्यों ताऊ को आई हंसी? क्या तलाक एक समाधान है? एक संस्था के तौर पर विवाह की प्रासंगिकता और घरेलू हिंसा का इकलौता समाधान.

-बिज़ार ख़बर में 500-500 रुपए दिहाड़ी पर काम कर रहे 'दरोगा-सिपाही' के बहाने असली नकली पुलिस पर बात. 500 रुपये से पुलिस का रिश्ता और फ़रार शब्द की ध्वन्यात्मकता.

-बारात और बसों की उल्टी. महिलाओं और बच्चों को उल्टी अधिक क्यों आती है? मोशन सिकनेस और होम सिकनेस का रिश्ता. क्या उल्टी और दश्त एक बीमारी है? 

-उल्टी करने का सलीका. उल्टी और जनवासे का रिश्ता. उल्टी साफ करने का दर्द. उल्टी करने की सही जगह. उल्टी से कैसे निजात पाएं? किन उल्टी करने वालों को ताऊ एडमायर करते हैं, 

-आख़िर में ताऊ, बाबा और सरदार के नाम प्रिय तीन तालियों की टिप्पणी और प्रतिक्रियाएं. बाबा की नज़र से अब तक का सबसे प्रिय 'प्रेम पत्र'.

-और 100वें एपिसोड का निमंत्रण.

प्रड्यूसर - शुभम तिवारी
साउंड मिक्सिंग - नितिन रावत

Listen and follow तीन ताल